Buxwah

मरीज को सात दिन रखा भूखा, फिर ऑपरेशन से किया इंकार, डॉक्टर गिरफ्तार

पन्ना : डॉक्टर को 'भगवान' का रूप माना जाता है. हालांकि मध्य प्रदेश के पन्ना में यही 'भगवान' रिश्वतखोर निकला है. दरअसल पन्ना जिला चिकित्सालय के डॉक्टर गुलाब तिवारी ऑपरेशन करने के लिया रिश्वत लेते गिरफ्तार किए गए हैं. सागर लोकायुक्त ने यह कार्रवाई की है.

                                

7 दिन रखा मरीज को भूखा

मरीज मुकेश कुशवाहा की शिकायत पर लोकायुक्त ने यह कार्रवाई की है. मुकेश ने बताया कि वह फिशर रोग से पीड़ित है और उसे सर्जरी करवानी है. इसके लिए डॉक्टर ने उसे सर्जरी के नाम पर 7 दिनों तक भूखा भी रखा.तत्पच्छात डॉक्टर सर्जरी करने के लिए मरीज से 5000 रुपए की रिश्वत की मांग करने लगा. रिश्वत के पैसे देने से इंकार करने पर डॉक्टर ने मरीज की सर्जरी को टाले रखा और आखिरकार ऑपरेशन करने से मना कर दिया.

मरीज ने लोकायुक्त से की शिकायत

डॉक्टर से नाराज मरीज ने इसकी शिकायत सागर लोकायुक्त से कर दी. इसके बाद लोकायुक्त ने कार्रवाई करते हुए रिश्वत मांगने के आरोपी डॉक्टर गुलाब तिवारी को 4 हजार रुपए के साथ रंगे हाथ पकड़ लिया. 

पन्ना जिले में लगातार कई बड़े अधिकारी रिश्वत में पकड़े गए हैं किन्तु पहली बार सरकारी जिला अस्पताल में ऑपरेशन के बदले रिश्वत मांगने का मामला सामने आया है. वहीं लोकायुक्त की इस कार्रवाई से स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया है. बता दें की बीते कुछ दिन पूर्व ही एक तहसीलदार  उमेश तिवारी, एक लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया था.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ