Breaking News

चित्रकूट में एक सप्ताह के अंदर 250 अतिरिक्त बेड की हो व्यवस्था: नन्द गोपाल गुप्ता

 चित्रकूट में एक सप्ताह के अंदर 250 अतिरिक्त बेड की हो व्यवस्था: नन्दी

- आक्सीजन सिलेंडर की नहीं आने दी जाए कमी: नन्दी

-मंत्री नन्दी ने प्रभारी जनपद चित्रकूट की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की समीक्षा की

-जिलाधिकारी व मुख्य चिकित्साधिकारी के साथ वर्चुअल बैठक कर एक-एक मुद्दे पर की गहन चर्चा

-आरके सिंह पटेेल इंस्टीट्यूट रघौली और आईटीआई भांगा शिवरामपुर में की जाएगी 100-100 बेड की व्यवस्था


अखिलेश यादव: सपा सरकार ने कार्यकाल में जो सेवाएं शुरू कीं वह काम आ रही हैं आज

उत्तर प्रदेश के विभिन्न जनपदों में कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए उत्तर प्रदेश के नागरिक उड्डयन, अल्पसंख्यक कल्याण, राजनीतिक पेंशन, मुस्लिम वक्फ एवं हज मंत्री व प्रभारी मंत्री चित्रकूट नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी ने मंगलवार को चित्रकूट जनपद की स्वास्थ्य सुविधाओं और कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए जिम्मेदार अधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक की। जिसमें मंत्री नन्दी ने चित्रकूट में मौजूद स्वास्थ्य सुविधाओं की संपूर्ण जानकारी लेते हुए अधिकारियों को एक सप्ताह के अंदर 250 अतिरिक्त बेड की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। मंत्री नन्दी ने कहा कि कोरोना पाॅजीटिव मरीजों के इलाज में व संक्रमण को रोकने की प्रक्रिया में किसी तरह की लापरवाही न बरती जाए।

मंत्री नन्दी ने चित्रकूट के जिलाधिकारी शुभ्रांत कुमार शुक्ला व प्रभारी सीएमओ डा. इम्तियाज अहमद के साथ वर्चुअल बैठक कर स्वास्थ्य सेवाओं से सम्बंधित एक-एक मुद्दे पर सवाल करते हुए गहन समीक्षा की। प्रभारी सीएमओ व जिलाधिकारी ने बताया कि चित्रकूट जनपद में इस समय करीब 350 बेड की व्यवस्था है। प्रतिदिन करीब 125 पाॅजीटिव केस के मामले सामने आ रहे हैं। मंत्री नन्दी ने पूछा कि कोरोना से अब तक कितनी मौत हुई? तो अधिकारियों ने बताया कि पिछले वर्ष से लेकर अब तक 18 मौत हुई है, जिनमें इस बार की संख्या चार है। आईसीयू और वेंटीलेटर बेड की क्षमता के बारे में पूछे जाने पर बताया गया कि 10 वेंटीलेटर और 10 आईसीयू क्रियाशील हैं। निजी चिकित्सालयों के बारे में पूछे जाने पर प्रभारी सीएमओ ने बताया कि चित्रकूट में एक भी निजी चिकित्सालय अनुमन्य नहीं है। केवल एल-2 हाॅस्पीटल ही उपलब्ध है। एल-3 की स्थिति में मरीज को बांदा या प्रयागराज भेजा जाता है।

कोविड पाॅजीटिव मरीजों की लगातार बढ़ रही संख्या को देखते हुए मंत्री नन्दी ने डीएम और एसएसपी को एक सप्ताह के अंदर 250 बेड की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए। प्रभारी सीएमो ने बताया कि आरके सिंह पटेेल इंस्टीट्यूट रघौली और आईटीआई भांगा शिवरामपुर में जल्द ही 100-100 अतिरिक्त बेड की व्यवस्था की जा रही है। 

मुख्यमंत्री चौहान: कोरोना के विरूद्ध मैदान में उतरने के अलावा कोई विकल्प शेष नहीं

मंत्री नन्दी ने कहा कि कोविड पाॅजीटिव मृतकों के अंतिम संस्कार सम्मानपूर्वक, कोविड प्रोटोकाॅल के साथ किए जाएं। इसमें किसी तरह की लापरवाही न बरती जाए। प्रभारी सीएमओ ने बताया कि प्रति दिन करीब 500 आरटीपीसीआर की जांच कराई जा रही है। मंत्री नन्दी ने होम आईसोलेशन में इलाज करा रहे लोगों की संख्या और ईलाज के बारे में जानकारी ली। प्रभारी सीएमओ ने बताया कि कुल 972 मरीज इस समय आइसोलेशन में हैं। जिनकी आआरटी टीम के जरिये निगरानी की जा रही है। इंटीग्रेटेड कोविड कमांड सेंटर के जरिये काॅल किया जा रहा है।

मंत्री नन्दी ने कहा कि स्वास्थ्य सुविधाओं और सेवाओं को और बेहतर बनाए जाने की जरूरत है। कहा कि आक्सीजन सिलेंडर के लिए लोगों को परेशान न होना पड़े इसके विशेष ध्यान रखा जाए। प्रभारी सीएमओ ने बताया कि अभी आठ दिन के लिए आक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध है। थोड़ी क्राइसेस की स्थिति बनी हुई है। मंत्री नन्दी ने प्रभारी सीएमओ डा. इम्तियाज से कहा कि पूरी जिम्मेदारी के साथ काम करें, जो भी समस्या आ रही है। उससे अवगत कराएं, जिसका तत्काल निरारकरण कराया जा सके। जिलाधिकारी शुभ्रांत शुक्ला में अस्पतालों में मैन पाॅवर की कमी से अवगत कराया।

आपका Bundelkhand troopel टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां