Buxwah

जनसेवा की मुहिम:गरीब जरूरतमंद लोगों को भोजन बांट रहे उत्साही युवा

 

कोरोना से पीड़ित कर्मचारियों का वेतन काटा तो होगी कार्यवाही

18+ का वैक्सीनेशन 3 केंद्रों से होगा शुरू:जिले को 10 हजार 4 सौ कोवी सील्ड और 5 हजार को-वैक्सीन डोज मिले, रजिस्ट्रेशन शुरू

छतरपुर

जिले में 18+ का कोविड वैक्सीनेशन 1 मई शनिवार की सुबह 9 बजे शुरू हो रहा है। जिसका रजिस्ट्रेशन स्वास्थ्य विभाग ने कोविन पोर्टल और आरोग्य सेतु एप के माध्यम से शुरू कर दिया है। जिले में 18+ का वैक्सीनेशन सिर्फ जिला मुख्यालय के तीन केंद्रों पर शुरू किया जा रहा है। इसके बाद विभाग जिले के अन्य नगरों और कस्बों में केंद्र स्थापित कर वैक्सीनेशन शुरू करेगा। विभाग ने शहर के इन केंद्रों पर वैक्सीनेशन कराने की तैयारियां पूरी कर ली हैं। जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा 1 मई से जिले में 18+ व्यक्तियों के लिए कोविड-19 टीकाकरण का अभियान शुरू किया जा रहा है। जिसके लिए विभाग ने बुधवार से कोविन पोर्टल और आरोग्य सेतु एप के माध्यम से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू कर दिया गया है।

बल्देवगढ़ में प्रशासन की सख्ती:बेवजह घूमने वालों को बनाया मुर्गा, फल-सब्जी वालों को खदेड़ा

छतरपुर

नगर में कोरोना कर्फ्यू के दौरान पुलिस-प्रशासन ने मिलकर बाहर घूमने वालों के खिलाफ सख्ती दिखाई। इस दौरान तहसीलदार डॉ. अनिल गुप्ता डंडा लेकर सड़कों पर निकले। फल-सब्जी विक्रेताओं पर सख्ती दिखाकर उन्हें खदेड़ा। जिस पर कई लोगों ने बेवजह मारपीट का आरोप लगाया। फल विक्रेता खंचे रैकवार, सब्जी विक्रेता मुकेश, कल्लू खान ने आरोप लगाया कि प्रशासन द्वारा हम लोगों के साथ ज्यादती की जा रही है। एक और पुलिस ऐलान करा रही है 12 बजे तक सब्जी व फल विक्रेताओं के बस स्टैंड पर लगाए जाएंगे। वहीं दूसरी ओर तहसीलदार व उनके ड्राइवर द्वारा 10:15 पर फल व सब्जी विक्रेताओं के साथ लाठी से मारपीट की जा रही है

जनसेवा की मुहिम:गरीब जरूरतमंद लोगों को भोजन बांट रहे उत्साही युवा; कोरोना महामारी की घड़ी में कोई व्यक्ति भूखे पेट नहीं सोने पाए

लव्कुश् नगर 

कोरोना कर्फ्यू के दौरान सभी काम धंधे बंद हैं। लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। किराना आदि की दुकानें बंद होने से लोग परेशान हैं। वहीं सबसे अधिक समस्या गरीब बेसहारा वृद्धों को है। उनके सामने पेट भरने की समस्या आ गई है। ऐसे में लवकुशनगर के कुछ उत्साही युवाओं ने इन जरूरतमंदों की सेवा करने का संकल्प लिया है। यह युवा सुबह शाम जरूरत मंद गरीब वृद्धों के घर भोजन के पैकेट पहुंचा रहे हैं

बांदा: नाम की ख्वाहिश नहीं, बस संक्रमितों और जरूरतमंदों की भूख मिटाना इस इंसान का मकसद

पृथ्वीपुर में पुलिस की कार्रवाई:कोरोना कर्फ्यू तोड़ने पर युवकों को धूप में बेरिकेड्स खोलने-बंद करने की सजा

छतरपुर

कोरोना संक्रमण की रोकथाम और दूसरे जिले से आने वाले लोगों को रोकने के लिए पुलिस के द्वारा नए-नए तरीके अपनाए जा रहे हैं। बुधवार को एसडीओपी संतोष पटेल के नेतृत्व में मनमानी कर रहे लोगों को रोककर उन्हें सबक सिखाया गया। पुलिस के साथ उन्हें भी ड्यूटी के दौरान बैरीकेट्स खोलने और बंद करने की सजा से दंडित किया गया। पुलिस अधीक्षक आलोक कुमार सिंह की सक्रियता से निवाड़ी जिले को बाहरी संक्रमण से रोकने के लिए पृथ्वीपुर पुलिस नित्य नए तरीके अपना रही है। 

लवकुशनगर में निरीक्षण:बीएमओ ने मरीजों से कहा- समय पर दवाई लें, खानपान का ख्याल रखें

छतरपुर

कोरोना वायरस का संक्रमण नगर सहित आस पास के गाॅंवों में लगातार बढ़ रहा है। जिन पॉजिटिव मरीजों की स्थिति सामान्य है उन्हें होमआईसोलेट किया गया है। उनके घरों को कनटेंमेंट एरिया घोषित किया गया है। जबकि कुछ लोगों को कोविड केयर सेंटर में रखा गया है। बीते रोज शासकीय अमले ने सभी कनटेंमेंट एरिया का निरीक्षण किया।

चंदला में नियमों की अनदेखी:प्रतिबंध के बावजूद हाट बाजार में भीड़, धारा 144 की धज्जियां उड़ाई

छतरपुर

लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के कारण जनजीवन बेहाल है। कोरोना की चेन तोड़ने के लिए प्रशासन ने 30 अप्रैल तक के लिए कोरोना कर्फ्यू लगाया है। इस अवधि में केवल मेडिकल स्टोर, दूध दुकान खोलने की अनुमति है। फल, सब्जी व किराना सामग्री के लिए होमडिलेवरी की अनुमति दी गई है। इसके बावजूद बुधवार को चंदला नगर में प्रशासन की लापरवाही के चलते साप्ताहिक हाट लगाई गई

कोरोना से जंग:पॉजिटिव मिलने पर अब गलियों में बनेंगे माइक्रो कंटेनमेंट जोन, 10 दिन तक आवाजाही होगी बंद

सागर

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए नगर निगम अब पिछले साल की तर्ज पर माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाना शुरू कर दिया है। यह केवल उन्हीं इलाकों में तैयार किए जा रहे हैं, जहां कोरोना का संक्रमण ज्यादा है। हाल में शहर में 4 माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए भी जा चुके हैं। जिसमें कुछ घरों को बैरिकेडिंग करते हुए कंटेनमेंट क्षेत्र (प्रतिबंधित क्षेत्र) बनाया गया है

उपार्जन केंद्रों पर पहुंचे एडीएम बिना मास्क लगाए, कर्मचारियों को समझाइश देते दिखे

हितग्राही परेशान:हितग्राहियों-राशन दुकान संचालक के बीच मारपीट

दमोह

कोरोना काल में कर्फ्यू के चलते लोगों के काम धंधे बंद हैं। शासन ने गरीबाें को तीन माह का राशन दिए जाने के आदेश जारी किए हैं। लेकिन राशन दुकान मनमानी कर रहे हैं। समय पर हितग्राहियों को सामग्री का वितरण नहीं कर रहे हैं। सामग्री लेने पहुंच रहे हितग्राहियों को परेशान किया जा रहा है

नियमों की अनदेखी:काेरोना कर्फ्यू के बावजूद शटर बंद कर कारोबार कर रहे शहर के कुछ व्यापारी

दमोह

जिले में कोरोना बेकाबू हो गया है। घरों के अंदर भी लोग सुरक्षित नहीं बच पा रहे हैं, इधर शहर के लालची व्यापारी आपदा में भी अवसर तलाश रहे हैं। अधिक मुनाफा के चक्कर में व्यापारी पुलिस की पीठ के पीछे कारोबार करने में जुटे हैं। ऐसे व्यापारियों को कोरोना व्यापारी कहा जाए तो कम नहीं होगा। व्यापारी अपनी दुकानों में ग्रामीण अंचलों से खरीदी करने आने वाली भीड़ को अंदर बुलाकर शटर बंद कर लेते हैं और मनमाने दामों पर कपड़ा, बर्तन, किराना सहित अन्य सामग्री बेच रहे हैं। पुलिस के आने का डर दिखाकर ये कारोबारी ग्रामीण क्षेत्र की जनता को लूट रहे हैं और उनकी भी जान जोखिम में डाल रहे हैं।

अच्छी खबर:सागर से पुलिस की सुरक्षा में आई ऑक्सीजन, ग्वालियर और दतिया को मिली

दतिया

एक तरफ जहां देश के बड़े शहर ऑक्सीजन की कमी, किल्लत से जूझ रहे हैं तो वहीं दतिया में ऑक्सीजन भरपूर उपलब्ध हैं। रास्ते में ऑक्सीजन टैंकरों को कोई रोके नहीं और ट्रैफिक की भी समस्या न हो इसलिए पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौड़ के निर्देश पर मंगलवार को गोराघाट टीआई कमल गोयल सागर पहुंचे और यहां से ऑक्सीजन से भरे दो बड़े टैंकर पुलिस सुरक्षा में ग्वालियर पहुंचाए गए।

सीएमएचओ का अजीब आदेश:ऑक्सीजन का स्तर 94 से कम होने पर ही लिया जाए सैंपल

दतिया

सीएमएचओ के एक अजीब आदेश ने कोराना के लक्षण वाले मरीजों की मुसीबत बढ़ा दी है। सीएचएमओ डॉ. आरबी कुरेले ने मंगलवार को सभी फीवर क्लीनिक प्रभारियों को एक आदेश जारी किया।

इसमें उन्होंने कहा कि जब किसी व्यक्ति के शरीर का तापमान 37.2 डिग्री यानि 98.96 से अधिक या ऑक्सीजन का स्तर 94 से कम होने पर ही कोरोना जांच के लिए सैंपल लिया जाए। आदेश में सर्दी, जुकाम, दस्त, हाथपैरों में दर्द होने जैसी स्थिति में कोरोना सैंपल लेने का जिक्र नहीं है।

आपका Bundelkhand Troopel टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ