Buxwah

कोरोना काल में भाईचारे का संदेश देते लोग

कोरोना महामामि के चलते लोग घरों में रहने को मजबूर हैं, लोगों घरों से नहीं निकल सकते फिर भी लोगों को एक दूसरे की चिंता है और यही आपसी भाईचारे को दिखलाता है. यही बात हमारे भारतीय होने का अनोखा सत्य भी दिखलाती हैं. 


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान: कोरोना संक्रमण की दर स्थिर हुई है, सहयोग और संयम बनाए रखें

इस कोरोना महामारी के दौर में एक मुस्लिम की मौत पर उसे कंधा दे कब्रिस्तान तक एक हिन्दू ने पहुंचाया यह सिर्फ भारत में ही हो सकता है. मामला करनैलगंज तहसील के एक गांव पांडेयचौरा का है, जहां पर मुस्लिम समुदाय के मोहम्मद सलीम 55 वर्ष की किसी बीमारी के चलते मृत्यु हो गई.अंतिम संस्कार के लिए ले जा रहे शव को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कब्रिस्तान ले जाया गया. 

इस दौरान हिन्दू समुदाय के देवेंद्र प्रताप सिंह ने मानवीय संवेदना के साथ शव को कंधा देते हुए कब्रिस्तान तक पहुंचाया एवं समाज को भाईचारे का संदेश दिया. उन्होंने समाज को मानवीय संवेदना की सीख दी है की इस मुसीबत की घड़ी में हमें एक दूसरे का साथ देना है. 

जिला प्रशासन छात्रावास को अस्पताल बनाना चाहता है लेकिन छात्र इसके लिए तैयार नहीं

हिन्दू एवं मुस्लिम दोनों समुदाय के लोगों ने देवेंद्र प्रताप सिंह की सराहना की कि उन्होंने इस महामारी के दौर में एक बहुत बड़ी मिसाल कायम की है जो इन दोनों समुदाय के रिश्तों को मजबूती देंगी.

आपका Bundelkhand troopel टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ