Buxwah

Chitrakoot Panchayat Election: कनकोटा गांव में पुनर्मतदान

चित्रकूट जिले में पहाड़ी ब्लाक के कनकोटा गांव में गुरुवार को प्राथमिक विद्यालय बूथ नंबर 9 पर पुनर्मतदान होगा। पीठासीन अधिकारी समेत पोलिंग पार्टी दस पुलिसकर्मियों के साथ बूथ पर पहुंच गई है। इसमें महिला पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। सुबह 7 से शाम 6 बजे तक इस बूथ में गांव के 801 मतदाता मतदान करेंगे।


कोरोना से पीड़ित कर्मचारियों का वेतन काटा तो होगी कार्यवाही

प्राथमिक विद्यालय कनकोटा के बूथ नंबर 9 पर बुधवार की दोपहर को पोलिंग पार्टी पहुंची। इसके बाद मतदान के लिए टेबल आदि लगाकर तैयारी पूरी कर ली है। एसडीएम राजबहादुर ने बताया कि पुनर्मतदान की तैयारी पूरी है। कनकोटा गांव में दो बूथ हैं।

19 अप्रैल को मतदान के दौरान बूथ नंबर 9 पर हंगामा होने पर मतदान रद्द कर दिया गया था। इसीलिए सिर्फ इसी बूथ पर मतदान होगा। सीओ शिवप्रकाश और थाना प्रभारी जयश्ंाकर सिंह ने बताया कि किसी भी अराजक तत्व पर पुलिस टीम की नजर रहेगी।

प्रशासन के काफी प्रयास के बाद भी पूरे गांव में पुनर्मतदान को लेकर ग्रामीणों में उत्साह नहीं दिख रहा है। ग्रामीणोें के अंदर 19 अप्रैल की घटना और उसके बाद के हालातों को लेकर डर भी  है। घटना के बाद से प्रधान पद के प्रत्याशियों ने भी प्रचार नहीं किया है। 

जनसेवा की मुहिम:गरीब जरूरतमंद लोगों को भोजन बांट रहे उत्साही युवा

प्रधान पद के 8 प्रत्याशी मैदान में

कनकोटा गांव में कुल 1608 मतदाता हैं। पर प्राथमिक विद्यालय बूथ नंबर 9  पर कुल 801 मतदाता हैं। इस गांव में प्रधान पद के लिए 8 प्रत्याशी मैदान में हैं। बीडीसी के पांच और डीडीसी के 25 प्रत्याशियों के लिए भी मिलने वाले मतों का प्रभाव होगा। 


19 अप्रैल को मतदान के बाद जब मतपेटी सीज की जा रही थी तब प्रधान पद के प्रत्याशी जगदीश शुक्ला व अजय पांडेय अपने समर्थकों के साथ बूथ नंबर-9 पर पहुंचे थे। दोनों के बीच कहासुनी के बाद मारपीट होने लगी थी। दोनों एक दूसरे पर फर्जी मतदान कराने का आरोप लगाया।

पुलिसकर्मियों ने दोनों प्रत्याशी और समर्थकों को बाहर खदेड़ा तो मारपीट हो गई। इस दौरान मतपेटी में पानी डाल दिया गया। इसी के चलते डीएम शुभ्रांत कुमार शुक्ल ने इस बूथ पर पुनर्मतदान कराने के आदेश दिए हैं। गौरतलब है कि इसी मामले में राजापुर थाने में 20 नामजद व 40 अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज है। जिसमें एक घायल आरोपी की इलाज के दौरान मौत भी हो चुकी है। पुलिस ने मतपत्र लूटने वालों के साथ कुल 17 नामजद आरोपियों को पकड़ा भी है।

स्रोत-अमर उजाला 

आपका Bundelkhand Troopel टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ