Buxwah

अघोषित विद्युत कटौती एवं भारी भरकम बिल के चलते विद्युत विभाग को सौंपा गया ज्ञापन


वेयर हाउस प्रबंधक की लापरवाही:रामगढ़ ओपन कैप में लॉट की पॉलीथिन फटीं, खुले में रखी 5.22 करोड़ की धान हाे रही खराब

छतरपुर

सटई रोड पर रामगढ़ गांव के पास मप्र वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन का ओपन कैप स्थित है। इसमें पिछले दो साल से 20 लॉट (चट्‌टों) में धान की 58 हजार बारियाें रखी गई हैं। इन लॉट को ढ़कने के लिए लगाई गई पॉलीथिन फट गई है। जिसे वेयर हाउस प्रबंधक द्वारा अब तक नहीं बदलवाया गया है। इस कारण खुले आसमान के नीचे लगे 20 चट्‌टों (लॉट) में रखी 5.22 करोड़ रुपए की धान आधे से अधिक खराब हो रही है

पीड़ित मानवता के चहेरे पर मुस्कान लाते हैं चिकित्सक : राज्यपाल आनंदीबेन पटेल

तकनीकी खेती:बेड-मल्चिंग पद्धति से सब्जी की खेती सिखा रहा किसान

छतरपुर 

बड़ामलहरा जनपद के महराजगंज के एक किसान ने पारंपरिक खेती से लंबा घाटा खाने के बाद तकनीकी खेती को अपनाया। इस खेती में पिछले वर्ष व इस वर्ष कोरोना लॉकडाउन लगने के कारण लंबा नुकसान होने के बावजूद किसान ने मुनाफा कमाया। इसके साथ ही किसान आसपास के किसानों को तकनीकी खेती करने की बारीकियां भी सिखा रहा और प्रेरित कर रहा है। महाराजगंज के किसान लक्ष्मीकांत सुरहा ने गेहूं, चना, मटर आदि की परंपरागत खेती में कई सालों तक लंबा नुकसान झेला। इससे परेशान होकर उन्होंने परंपरागत खेती छोड़ वैज्ञानिक पद्धति से तकनीकी खेती की ओर रुख किया। लक्ष्मीकांत सुरहा बताते हैं कि उन्होंने वर्ष 2020 में 3 एकड़ में 2 लाख रुपए की लागत लगाकर नीबू, मिर्च, टमाटर, बैगन, धनिया, लौकी, कद्दू, तरोई, तरबूज व खरबूज की खेती शुरू की।

धरना प्रदर्शन:बिल वसूली के खिलाफ कांग्रेस ने किया बिजली कार्यालय का घेराव

छतरपुर 

कुछ महीनों से लवकुशनगर क्षेत्र व नगर में अघोषित विद्युत कटौती से जनजीवन खासा हलाकान है। वहीं इस माह विभाग द्वारा उपभोक्ताओं को भारी भरकम बिल थमाए गए हैं। इसे लेकर नगर व क्षेत्र वासियों में आक्रोश है। बीते रोज कांग्रेस पार्टी ने धरना प्रदर्शन कर विद्युत विभाग कार्यालय का घेराव किया और एक ज्ञापन पत्र सौंपा। अघोषित विद्युत कटौती और भारी भरकम बिलों के विरोध में कांग्रेस पार्टी के बैनर तले सैकड़ों लोगों ने प्रदर्शन किया। सभी के हाथों में विभाग के खिलाफ तख्तियां थीं। विद्युत कार्यालय के मुख्य गेट पर लोगों ने धरना दिया, इस दौरान विद्युत विभाग और प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

रूठा मानसून:80 हजार हेक्टेयर से अधिक में बोवनी, बारिश न होने से होगा नुकसान

टीकमगढ 

जिले की किसी भी तहसील में पिछले 6 दिन से बारिश नहीं हुई है। इसके चलते किसानों की बोवनी खराब हो रही है, या जिन किसानों ने अब तक बोवनी नहीं की है। उनकी बोवनी पिछड़ रही है। जिले में अब तक 104.2 मिमी बारिश हुई है। 28 जून के बाद से अंचल में कहीं भी बारिश नहीं हुई है। जिससे उड़द, सोयाबीन, तिल और मूंगफली की बोवनी कर पाना मुश्किल हो रहा है। 4 जुलाई तक जिले में 80855 हेक्टेयर से अधिक में बोवनी हो चुकी है। वहीं अभी भी 1 लाख 50 हेक्टेयर में बोवनी होना बाकी है। अब तक जिन किसानों ने बोवनी कर दी है वे फसल को सूखने से बचाने की चिंता कर रहे हैं

10 जुलाई को लगेगी नेशनल लोक अदालत:50 हजार से ज्यादा संपत्तिकर में ब्याज पर अभ छूट मिलेगी

टीकमगढ

जिले के न्यायालय परिसर व तहसीलों की न्यायालयों में 10 जुलाई काे नेशनल लोक अदालत लगेगी। इसमें संपत्ति कर व जलकर के प्रकरणों में भारी छूट दी जाएगी। इसमें ऐसे प्रकरण जिनमें कर तथा अधिभार की राशि 50 हजार रु. बकाया है उसमें 100 प्रतिशत तक की छूट दी जाएगी। इसी प्रकार जलकर के ऐसे प्रकरण जिनमें कर तथा अधिभार की राशि 10 हजार रु. बकाया होने पर 100 प्रतिशत तक की छूट दी जाएगी।संपत्तिकर के ऐसे प्रकरण जिनमें कर तथा अधिभार की राशि 50 हजार रु. से अधिक तथा 1 लाख रु. तक बकाया है, ऐसे प्रकरणों में अधिभार में 50 प्रतिशत की छूट दी जाएगी

जल जीवन मिशन में 39 लाख से अधिक ग्रामीण घरों में पहुँचा नल से जल

ट्रैफिक सुधार के लिए नई व्यवस्था:म्युनिसिपल स्कूल में शाम 6 से 10 बजे तक लगेंगे कटरा में लगने वाले चाट ठेले

सागर

गौरमूर्ति से राधा तिराहा तक और जय स्तंभ से विजय टॉकीज तक यातायात व्यवस्था को व्यवस्थित करने को लेकर विधायक शैलेन्द्र जैन और नगर निगम आयुक्त आरपी अहिरवार, एडिशनल एसपी विक्रमसिंह कुशवाह की उपस्थिति में संयुक्त बैठक आयोजित की गई

80 दिन बाद खुले पार्क:कलेक्टर ने कहा- भीड़ बढ़े तो प्रवेश बंद करें

सागर

शहर के पार्कों को रविवार से खोल दिया गया है। हालांकि 80 दिन बाद खोले गए पार्कों में अभी ज्यादा नहीं पहुंची। उधर, कलेक्टर दीपक सिंह ने कहा कि नगर निगम द्वारा शहर के जो भी पार्क आम जनता के लिए खोले जा रहे हैं। उनमें कोविड गाइड लाइन का पालन कराया जाए। यदि लगता है कि पार्क में अत्यधिक भीड़ बढ़ रही है तो तत्काल प्रवेश को बंद किया जाए।

एक सड़क-तीन प्लानिंग:बीच का हिस्सा निगम ने बनाया, बाकी स्मार्ट सिटी 8.75 करोड़ से बनाएगी

सागर

संजय ड्राइव सड़क निर्माण को लेकर दिखाई गई जल्दबाजी में बीच का हिस्सा बनकर जरूर तैयार हो गया है, लेकिन अब बचे हुए हिस्से को स्मार्ट सिटी द्वारा 8.75 करोड़ में बनाने जा रहा है। रविवार शाम इस सड़क के निर्माण को लेकर भूमिपूजन हो गया है। शहर की आधी आबादी को जोड़ने इस सड़क का दो साल पहले 670 मीटर का हिस्सा ही बन पाया था, जबकि अब स्मार्ट सिटी शुरूआत और सड़क के अंतिम छोर तक सड़क का निर्माण करेगी। पीडब्ल्यूडी ने चार साल पहले ही यह सड़क हैंडओवर की थी।

जल संरचनाएं निर्मित:15 से ज्यादा गांवों में पहाड़ों पर बनाई जल संरचनाएं, बढ़ने लगा जलस्तर

दमोह

बारिश के पानी को सहेजने के लिए गांव के लाेग भी धीरे-धीरे जागरूक हो रहे हैं। पंचायतों के सहयोग से ग्रामीणों द्वारा अपने गांव के आसपास के पहाड़ों पर सैकड़ों की संख्या में जल संरचनाएं निर्मित की जा चुकी हैं। जिनकी गहराई दो से तीन फीट है। बारिश में इन गड्‌ढों में पानी भर जाता है और व्यर्थ बहने के बजाय रिसकर जमीन के अंदर पहुंचता रहता है। जिससे आसपास के क्षेत्र के भूजल स्तर में बढ़ोत्तरी हो गई है।

सहकारी समितियों ने दिया मध्यप्रदेश की अर्थ-व्यवस्था को सुदृढ़ आधार

अच्छी पहल:हरा भरा पार्क करेगा शहर में प्रवेश करने वालों का स्वागत

दतिया

हरियाली के मामले में शहर का सिविल लाइन क्षेत्र नंबर वन है। यहां अधिकारियों के बंगले होने से बंगलों में तो बड़े बड़े पेड़ है ही, सड़क किनारे भी पेड़ व सड़क की डिवाइडरों के बीच पेड़ पौधे होने से सड़क महा नगरीय शहर का अहसास कराती है। लेकिन अब जैसे ही लोग हाईवे की रास्ते पुल को क्रास कर दतिया में प्रवेश करेंगे हाईवे पुल के नीचे हरा भरा पार्क लोगों को स्वागत करेगा। सिंधी समाज द्वारा यहां ज्योति पार्क विकसित किया जा रहा है। पार्क में पाथवे बनाने के साथ पौधे रोपना शुरू हो गया। बारिश के दौरान पार्क पूर्ण विकसित हो जाएगा

आपका Bundelkhand Troopel टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ