Buxwah

हीरा परियोजना से स्थानीय लोगों को मिलेगा रोजगार - खनिज मंत्री BP Singh


अंतिम मरीज डिस्चार्ज:जून में दूसरी बार कोरोना मुक्त हुआ छतरपुर जिला

छतरपुर

जून छतरपुर जिले वासियों के लिए शुभ रहा। इस माह के शुरू होते ही कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत का सिलसिला रुक गया। साथ ही इस माह के 20 दिन ऐसे रहे जब जिले का कोई भी व्यक्ति जांच रिपोर्ट में संक्रमित नहीं पाया गया। बुधवार की सुबह आलीपुरा गांव की 20 वर्षीय गर्भवती महिला के डिस्चार्ज होते ही इस माह में दूसरी बार छतरपुर जिला संक्रमण मुक्त हो गया। यदि जिले के लोगों ने प्रशासन की गाइडलाइन का कुछ दिनों तक और पालन किया तो यह सिलसिला आगे भी जारी रहेगा। जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती आलीपुरा गांव की 20 वर्षीय महिला बुधवार की सुबह स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज कर दी गई। इस महिला के डिस्चार्ज होते ही छतरपुर जिला दूसरी बार कोरोना संक्रमण से मुक्त हो गया। इसके पहले 20 जून को अंतिम मरीज के डिस्चार्ज होने पर जिला संक्रमण मुक्त हुआ था

गरीबों के लिये सरकार की सबसे अधिक जवाबदारी - मुख्यमंत्री चौहान

खरीफ की बोवनी पिछड़ी:छतरपुर शहर में सामान्य से 36 फीसदी कम बारिश

छतरपुर

मानसून के सक्रिय न होने के कारण पिछले करीब 12 दिनों से अच्छी बारिश नहीं हो रही है। छतरपुर शहर में जून के महीने में 106.2 मिलीमीटर बारिश होनी चाहिए, लेकिन अल्पवर्षा के कारण 1 जून से 30 जून तक महज 68.6 मिलीमीटर बारिश ही हुई। यानि छतरपुर में 64 फीसदी बारिश इस माह में हुई, जो सामान्य से 36 फीसदी कम है। अच्छी बारिश न होने से खेत सूखे पड़े हैं।

हड़ताल पर जाने की चेतावनी:स्टाफ नर्साें ने एक समान वेतन के लिए दिया धरना

छतरपुर

12 सूत्रीय मांगों को लेकर बुधवार की सुबह जिले भर की स्टाफ नर्स मप्र नर्सेस एसोसिएशन 11720 के बैनर तले जिला अस्पताल परिसर में धरने पर बैठ गईं। दो दिन पहले इन स्थाफ नर्सों ने अपनी मांगें पूरी कराने के लिए जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। चेतावनी के बाद भी जब इन कर्मचारियों की मांगें पूरी नहीं हुई तो सभी नर्सें अनिश्चित कालीन हड़ताल पर बैठ गई

डॉक्टर्स-डे:पहले स्वयं हुए संक्रमित, दूसरी लहर में 800 को दिया इलाज

छतरपुर

जिला अस्पताल में पदस्थ मेडिसिन विशेषज्ञ डॉ. अरविंद सिंह कोरोना संक्रमण की पहली लहर के दौरान संक्रमित हो गए। पर उन्होंने संक्रमण से हार नहीं मानी और इस दूसरी लहर में जिले के 800 मरीजों को इलाज देते हुए स्वस्थ किया। इस दौरान वे अपने परिवार से सामाजिक दूरी बनाए रहे, साथ ही समय-समय पर जरूरी दवाएं लेते रहे। जिससे वे दूसरी लहर के दौरान पूरी तरह से स्वस्थ रहे और मरीजों को लगातार इलाज दे सके। प्रदेश शासन ने मेडिसिन विशेषज्ञ डॉ. अरविंद सिंह की पद स्थापना अक्टूबर 2020 के अंतिम सप्ताह में छतरपुर जिला अस्पताल में की। ड्यूटी ज्वाइन करते ही उन्हें जिला अस्पताल के कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों के इलाज की जिम्मेदारी सौंप दी गई। डॉ. सिंह करीब डेढ़ माह ही कोरोना मरीजों को इलाज दे पाए थे कि 20 दिसंबर 20 को पॉजिटिव हो गए।

कुछ दिनों तक इलाज लेने के बाद वे स्वस्थ हो गए और अपनी ड्यूटी पर लौट आए।

खनिज मंत्री ने लोगों को किया संबोधित:हीरा परियोजना में 75 फीसदी स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा: खनिज मंत्री

छतरपुर

बक्स्वाहा तहसील के ग्राम कसेरा में एक कार्यक्रम हुआ। इसमें खनिज मंत्री ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि ग्रामीण निश्चिंत रहें और किसी प्रकार के भम्र में नहीं आए और न ही मन में कोई शंका रखें। डायमंड कम्पनी द्वारा, यहां के 75 प्रतिशत स्थानीय लोगों को रोजगार देने के साथ-साथ स्वास्थ्य, शिक्षा, पेयजल की सुविधाएं भी दी जाएगी। कंपनी के साथ किए गए अनुबंध में इस बात का प्रावधान किया गया है कि स्थानीय लोगों को रोजगार मिले और स्थानीय विकास प्राथमिकता से हो सके। खनिज मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि वह मुख्यमंत्री के निर्देश पर स्थानीय लोगों की जन-भावना को जानने के लिए ग्रामीणों के समक्ष उपस्थित हुए हैं। ग्रामीणों की जन-भावना को मुख्यमंत्री को अवगत कराएंगे और लोगों की अपेक्षा और बुनियादी सुविधा से जुड़े कार्यो को प्राथमिकता से कराया जाएगा।

प्रदेश में मार्च 2022 तक होने वाली सभी सांस्कृतिक और पर्यटन गतिविधियों का कार्यक्रम जारी

पारंपरिक कला:कागज की रद्दी और मुल्तानी मिट्टी से निवाड़ी की अजीत बाला सिंह बना रहीं आकर्षक बर्तन, यह प्लास्टिक का बेहतर विकल्प

निवाडी 

रद्दी के कागजों से बने बर्तन ग्रामीण क्षेत्रों में रोटी रखने एवं अन्य सामग्री किचन में रखने का प्रचलन धीरे-धीरे खत्म होता जा रहा है। लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में आज भी बिल्ली से रोटी, साग सब्जी, दूध आदि बचाने के लिए महिलाएं यह बर्तन रस्सी से बांधकर जमीन से ऊपर बांधकर रखती हैं। जिसे ग्रामीण मटेल्ली के नाम से जानते हैं। वहीं ग्रामीण क्षेत्र में घरेलू बर्तन के रूप में उपयोग की जाने वाली मटेल्ली का आज भी प्रमुख स्थान है

बंदिशें अभी जारी हैं:कलेक्टर ने अनलाॅक-2 की रियायतें 8 जुलाई तक बढ़ाईं

सागर

काेराेना संक्रमण के बाद लागू बंदिशाें में दी गई रियायतें 8 जुलाई तक बढ़ा दी गई हैं। कलेक्टर दीपक सिंह ने पहले 30 जून तक के लिए नई गाइडलाइन जारी की थी। काेराेना के मरीजाें के घटने पर आगे भी अनलाॅक- 2 काे यथावत रखा गया है। रविवार लाॅक डाउन पहले ही समाप्त किया जा चुका है।

5 जुलाई से लगेंगे शिविर:बिजली कंपनी ने शहर में 18 लाख रुपए के बिल ज्यादा जारी कर दिए, अब समायोजन

सागर 

बिजली कंपनी द्वारा शहर के उपभोक्ताओं को मनमर्जी के बिल थोपे पर जा रहे हैं। उनसे कुल खपत यूनिट से अधिक की राशि वसूली जा रही है। यह गलती तब उजागर हुई जब शहर विधायक शैलेंद्र जैन की आपत्ति के बाद बिजली कंपनी ने जून माह में जारी किए बिजली बिलों की जांच की। इसमें पकड़ में आया कि बिजली कंपनी की मनमानी के कारण उपभोक्ताओं को बढ़े हुए बिल दिए गए थे

बच्चों से कुपोषण मिटाने में कारगर साबित होगा नया अभियान

उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मान:कोरोना महामारी में सेवाएं देने वाले कर्मचारियों का सम्मान

दमोह

कोविड 19 महामारी में जिले के अनेक अधिकारी कर्मचारियों ने दिन रात अपनी स्वास्थ्य सेवाएं देकर अनेक लोगों को स्वास्थ्य कर घर भेजा, ऐसे लोगों को उनके किए गए उत्कृष्ट कार्य को सम्मान करते हुए जिला प्रशिक्षण केंद्र जटाशंकर कॉलोनी में सीएमएचओ डॉ. संगीता त्रिवेदी की अध्यक्षता में कोविड में संलग्न डाॅक्टर सभी स्वास्थ्य कर्मियों को सम्मानित कर मोमेंटो व सम्मान पत्र दिए गए

पंजीयन:31 जुलाई तक पुरानी ही गाइड लाइन पर होंगीं रजिस्ट्रियां

दतिया

अगर आपने किसी मकान, प्लाट या जमीन का सौदा किया है तो आपके लिए राहत भरी खबर है। अब 31 जुलाई तक पुरानी गाइड लाइन पर ही रजिस्ट्री के लिए स्टांप ड्यूटी देनी होगी। इससे 5 लाख के सौदे पर लगभग 10 हजार तक की बचत होगी। ऑन लाइन हो रही रजिस्ट्री के स्लॉट 6 जुलाई तक के लिए फुल हो चुके है। अब आप 7 जुलाई या इसके बाद रजिस्ट्री करा सकेंगे। इसके लिए आपको अपना स्लॉट बुक कराना होगा।

आपका Bundelkhand Troopel टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ