Buxwah

ग्रामीणों ने लगाया जाम, मशक्कत के बाद रात 8.30 बजे प्रशासन के आश्वासन पर माने परिजन | करंट लगने से महिला की मौत


जिले के हिंडोरिया वार्ड क्रमांक 15 में रहने वाली महिला को बिजली पोल से करंट लग गया। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना दोपहर करीब 3 बजे की बताई जा रही है। महिला की मौत के बाद परिजन और हिंडोरिया के दर्जनों लोग महिला के शव को लेकर दमोह पटेरा मुख्य मार्ग पर पहुंचे और सड़क पर शव रखकर जाम लगा दिया। लोगों की मांग थी कि मृत महिला के परिजनों को ₹50 लाख और परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी जाए। इसके साथ ही जिस लाइनमैन की लापरवाही के कारण यह घटना हुई है उस पर FIR कर उसे जेल भेजा जाए।

स्थानीय लोगों का आरोप है कि बिजली कंपनी के लाइनमैन रवि शंकर तिवारी से कई बार शिकायत की गई है कि वार्ड के खंभों में करंट आ रहा है। लेकिन उनके द्वारा लापरवाही की गई और सुधार कर नहीं किया गया। उन्होंने बताया कि 2 दिन पहले एक मवेशी की करंट लगने से मौत हो गई। उसके 1 दिन बाद यानी रविवार को एक बच्ची को करंट लग गया था और सोमवार को महिला को करंट लगने से उसकी मौत हो गई।

दिनभर मनाते रहे अधिकारी

हिंडोरिया के लोगों द्वारा सड़क पर जाम लगाए जाने की सूचना मिलने के बाद पुलिस और प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे और लोगों व परिजनों को मनाने का प्रयास किया, लेकिन वह नहीं माने। उनका कहना था कि तत्काल दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। विरोध प्रदर्शन चलता रहा और रात 8.30 बजे तक चला। इसके बाद पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने परिजनों और ग्रामीणों को भरोसा दिलाया कि यदि कोई आरोपी है तो उसके खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद मामला शांत हुआ और सड़क से जाम हटवाया गया। दमोह कोतवाली टीआई सत्येंद्र सिंह राजपूत भी इस जाम को हटाने के लिए पहुंचे थे। उन्होंने बताया कि परिजनों को आश्वासन दिया गया है और उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाया गया है, जिसके बाद लोगों ने जाम हटा दिया है।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ