Buxwah

दतियाः ग्रामीण अंचल में भी बंद का नहीं दिखा असर


किसानों की मांगों को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा 27 सितंबर सोमवार को भारत बंद का आव्हान किया गया था। जिले में बंद का असर शहरी सहित ग्रामीण क्षेत्र में कहीं देखने को नहीं मिला। सेवढ़ा, इंदरगढ़ एवं भांडेर में बंद बेअसर दिखाई दिया। बाजार में सभी व्यापारिक प्रतिष्ठान हर रोज की तरह खुले नजर आए। कांग्रेस एवं भारत कृषक समाज ने इस बंद को अपना समर्थन दिया था।

भारत कृषक समाज के अध्यक्ष नरेंद्र सिंह यादव के नेतृत्व में सोमवार को तहसील पहुंचकर राष्ट्रपति के नाम एसडीएम भांडेर को चार सूत्रीय ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन में केंद्र सरकार द्वारा पारित तीनों विवादित कृषि कानूनों को वापिस लेने की मांग की गई। सेवढ़ा में भी बंद का असर नगर के बाजारों में देखने को नहीं मिला। कांग्रेस ने इस बंद का समर्थन किया था। बंद के बारे सेवढा कांग्रेस के ब्लाक अध्यक्ष जनवेद सिंह कुशवाह से पूछा गया तो उनका कहना था कि जिले व प्रदेश से बंद हड़ताल को समर्थन देने संबंधी कोई भी आदेश प्राप्त नहीं हुआ है, लेकिन फिर भी कांग्रेस किसान की लड़ाई में उनके साथ खड़ी है। भारत बंद की घोषणा को देखते हुए पुलिस को चप्पे-चप्पे पर कड़ी निगरानी के निर्देश मुख्यालय से दिए गए थे। सेवढ़ा, इंदरगढ़, भांडेर, बसई, थरेट सहित जिले भर के थाना प्रभारियों को अपने क्षेत्र में एक्शन मोड में रहने के निर्देश दिए गए थे। इसके तहत सेवढ़ा टीआई वायएस तोमर ने कृषि उपज मंडी परिसर में पुलिस की तैनाती की। वहीं बाजारों में भी निगरानी रखी गई। सेवढ़ा में मंडी के बाहर निगरानी करती पुलिस। भांडेर में हर रोज की तरह खुला बाजार।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ