Buxwah

छतरपुर के एक ही परिवार के चार की मौत: नौकरी लगने की खुशी में बनारस गए थे, लौटते समय बांदा के पास पेड़ से टकराई कार

 

छतरपुर के एक परिवार पर कहर टूटा है। परिवार के चार सदस्यों की सड़क हादसे में उप्र के बांदा के पास मौत हो गई। ये लोग परिवार के सदस्य की नौकरी लगने की खुशी मनाने बनारस गए थे। लौटते समय हादसा हो गया। मरने वालों में एक पुरुष, एक बच्ची और दो महिलाएं शामिल हैं।

 
बांदा के पास हुए हादसे में छतरपुर के एक परिवार के चार लोगों की मौत हुई है।
बांदा के पास हुए हादसे में छतरपुर के एक परिवार के चार लोगों की मौत हुई है। 


छतरपुर के एक परिवार के चार सदस्यों की सड़क हादसे में उप्र के बांदा के पास मौत हो गई। ये लोग परिवार के सदस्य की नौकरी लगने की खुशी मनाने बनारस गए थे। लौटते समय हादसा हो गया। मरने वालों में एक पुरुष, एक बच्ची और दो महिलाएं शामिल हैं।


जानकारी के अनुसार हादसा सोमवार दोपहर करीब 3 बजे हुआ है। छतरपुर शहर के सिविल लाइन थाना क्षेत्र के ग्रीन एवेन्यू निवासी राकेश सिंह अपने परिवार के साथ नई जॉब लगने की खुशी में काशी विश्वनाथ मंदिर बनारस दर्शन करने गए हुए थे, जहां से लौटते समय उत्तरप्रदेश के बांदा जिले के पास तेज रफ्तार कार आईटेन कार क्रमांक सीजी 07 सीए 6309 पेड़ से टकरा जाने से भीषण सड़क हादसा हो गया। इसमें सवार एक ही परिवार के चार सदस्यों की मौत हो गई। तीन की घटना स्थल पर तो एक बच्ची की अस्पताल में मौत हुई है। पुलिस ने राकेश सिंह की कार के कागजों से उनकी पहचान कराते हुए दोस्तों आदि को घटना की सूचना दी।

 
बता दें कि शहर के ग्रीन एवेन्यू में 205 नंबर बंगले में निवासी राकेश सिंह (46) छतीसगढ़ के भिलाई के रहने वाले थे, जो ग्रेनाइट कंपनी में मैनेजर के पद पर कार्य करते थे। हादसे में राकेश कुमार, उनकी 40 वर्षीय पत्नी वंदना और 62 वर्षीय सास की मौके पर ही मौत हो गई। 10 वर्षीय पुत्री अनिका सिंह को इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज बांदा में भर्ती किया गया था जहां इलाज के दौरान उसकी भी मौत हो गई। इस घटना की खबर मिलते ही उनके निवास वाली ग्रीन ऐवेन्यू कॉलोनी में शोक की लहर फैल गई है। बताया गया है मृतक राकेश सिंह का 17 वर्षीय बेटा हैदराबाद में पढ़ता है जो वहीं पर होने के कारण उनके साथ बांदा नहीं गया। इस तरह से परिवार में अब वही एकमात्र बचा है।
 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ