Buxwah

बुंदेलखंड को मिली बड़ी सौगात : यहाँ दो और रैक प्वाइंट बनेंगे, खजुराहो बनेगा वर्ल्ड क्लास स्टेशन

 देश की पहली वंदे भारत ट्रेन खजुराहो से शुरू होगी रेल मंत्री की घोषणा

केन्द्रीय रेल्वे एवं कम्युनिकेशन इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इन्फॉरमेशन टेक्नोलॉजी मंत्री श्री अश्वनी वैष्णव ने महाराजा छत्रसाल कन्वेंशन सेंटर खजुराहो में शनिवार को जिला अधिकारियों के साथ विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की। कलेक्टर छतरपुर  संदीप जी आर ने जिले के विकास, नवाचार एवं कार्यों का प्रेजेंटेशन किया। इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री डॉ वीरेंद्र कुमार, प्रदेश के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम तथा जिले के प्रभारी मंत्री  ओमप्रकाश सखलेचा, खनिज मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह, सांसद व्ही. डी. शर्मा, सीधी सांसद  रीति पाठक, पूर्व मंत्री ललिता यादव, विधायक द्वय प्रद्युम्न सिंह लोधी,  राजेश प्रजापति, एसपी सचिन शर्मा,  मलखान सिंह,  अरविंद पटेरिया एवं एनसीआर एवं डब्ल्यूसीआर के जीएम सहित छतरपुर जिले के अधिकारी उपस्थित रहे।



पर्यटन नगरी खजुराहो का रेलवे स्टेशन बनेगा वर्ल्ड क्लास स्टेशन छतरपुर एवं खजुराहो में दो और रैक प्वाइंट बनेंगे रेल मंत्री ने अपने उद्बोधन में कहा कि प्रधानमंत्री के निर्देश पर आकांक्षी जिलों की गतिविधियों को समझने और आकांक्षी परियोजना से क्षेत्र में आए परिवर्तन को जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों से समझने के लिए और जिले की बुनयादी सुविधाओं को विस्तारित करने के उद्देश्य से खजुराहो का भ्रमण कई आयामों में लाभप्रद सिद्ध होगा।  उन्होंने बताया कि देश के प्रधानमंत्री ने जब से नेतृत्व संभाला है, तब से उन्होंने गवर्नेंश को आयाम दिया है।

जिसका मूल मंत्र है सेवा का भाव। सरकार राज करने नहीं, अपितु सेवा करने के लिए है। बीते 6 दशकों के लंबित बुनियादी कामों को वर्तमान सरकार ने धरातल पर शुरू किया है। पीएम खुद को जनता का सेवक कहते ही नहीं करके दिखाते हैं। इसी सेवाभावना के चलते देश के आर्थिक रूप से कमजोर और पिछड़े क्षेत्रों में आकांक्षी कार्य योजना शुरू करते हुए उन जिलों को समृद्ध बनाया जा रहा है। सेवा के भाव और भावना के चलते ही आकांक्षी जिलों में सुधार के परिणाम सामने आ रहे हैं। समाज के अंतिम व्यक्ति और अंतिम क्षेत्र को बुनियादी सुविधा की दृष्टि से पायदान पर लाना ही सुशासन है। 

रेल मंत्री ने छतरपुर-खजुराहो को दी सौगात

रेल मंत्री ने देश की इतिहास में चलने वाली पहली रेल की तिथि 16 अप्रैल रेलवे के जन्मदिवस पर खजुराहो को सौगात दी। खजुराहो टूरिज्म के लिए दुनियाभर में जाना जाता है। इस भावना को सामने रखकर इसे विश्व का सबसे सुंदर रेलवे स्टेशन बनाने और देश की पहली वंदे भारत ट्रेन खजुराहो से शुरू करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि छतरपुर एवं खजुराहो में दो और रैक प्वाइंट बनेंगे।

साथ ही छतरपुर की टेराकोटा कला को रेलवे निखारेगा और जल मिशन योजना से घर-घर जल पहूँचाने का संकल्प लिया। इस हेतु 30 अप्रैल तक जिले की कार्ययोजना दिल्ली भेजी जाएगी। जिसमें जिले के जनप्रतिनिधि अधिकारी मिलकर कार्ययोजना का काम करेंगे। उन्होंने बताया कि चैन्नई में 400 ट्रेन के डिब्बों का निर्माणाधीन कार्य जारी है बहुत जल्द ही प्रत्येक माह 4-6 ट्रेन नए स्वरूप में संचालित होगी। उन्होंने कहा कि खजुराहो में रेल सुविधा विस्तार के लिए विद्युतिकरण कार्य आगामी अगस्त तक पूरा कर लिया जाएगा।

छतरपुर की टेराकोटा कला को रेलवे निखारेगा

जल मिशन से घर-घर जल पहुंचाने का लिया संकल्प, 30 अप्रैल तक जिले की कार्ययोजना दिल्ली भेजी जाएगी

जिसके पूरे होते ही प्राथमिकता के आधार पर खजुराहो रेलवे स्टेशन से वंदे भारत रेल शुरू होगी।उन्होंने कहा कि कलेक्टर स्वयं एक इंस्टीट्यूशन है। सेवा भावना से कार्य करें। खजुराहो के रेल विस्तार के लिए बनने वाले प्रजेंटेशन खजुराहो की संस्कृति के मॉडल पर डिजाईन हो। हमारे देश की संस्कृति, इतिहास और टूरिज्म भी विश्व में जाना पहचाना जाता है। इसे ध्यान में रखकर रामायण एक्सप्रेस चालू की गई है।

खजुराहो की संस्कृति के आधार पर भारत गौरव ट्रेन के लिए जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी मिलकर अच्छी कार्ययोजना तैयार करें। उन्होंने कहा कि देश के हर क्षेत्र में कुछ न कुछ विशेष मौजूद है। हमने इसका समूचित उपयोग करने के लिए एक स्टेशन एक प्रोडेक्शन कार्ययोजना को शुरू किया है। अभी तक 19 रेलवे स्टेशन पर इसे शुरू किया गया। इसके जरिए शिल्पकला को विकसित किया जा रहा है।


साभार- बुंदेलखंड न्यूज़


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ