Buxwah

बदलावों को दिशा देने वालों के सम्मान से जन-मानस को मिलती है प्रेरणा : राज्यपाल श्री पटेल

 अपनी क्षमताओं को पहचान कर मनुष्य ब्रह्मांड को कमांड कर सकता है: मुख्यमंत्री श्री चौहान

राज्यपाल ने मुख्यमंत्री को सम्मनित किया चैंपियंस ऑफ चेंज अवार्ड से



राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल ने कहा है कि समाज को नई दिशा देने वाले बदलावों के सम्मान से जन-मानस को जीवन की चुनौतियों का सामना करने की प्रेरणा और विश्वास मिलता है।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सम्मानित प्रतिभाओं का समाज में योगदान बताता है कि मनुष्य अपनी क्षमताओं को पहचान कर ब्रह्मांड को कमांड कर सकता है।

राज्यपाल श्री पटेल और मुख्यमंत्री श्री चौहान कुशाभाऊ ठाकरे इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर में चैपियंस ऑफ चेंज अवार्ड समारोह को संबोधित कर रहे थे। राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल ने चैंपियंस ऑफ चेंज अवार्ड से मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को सम्मानित किया।

राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि समावेशी विकास प्रयासों में जीवन मूल्यों को बढ़ावा देने वालों का सम्मान समाज में समरसता और सद्भावना को मज़बूत बनाता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में दुनिया ने हमारी लोकतांत्रिक संस्थाओं, आर्थिक शक्ति, वैज्ञानिक कौशल, संस्कृति और विविधता का लोहा माना है। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगाँठ पूरी होने के साथ यह सुनिश्चित करना होगा कि महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण से जुड़ी बाधाएँ दूर हों। समाज के वंचित वर्गों के लिए न्याय के प्रयासों और विकास के अवसर विस्तारित हो। उन्हें मुख्य-धारा में शामिल करने के प्रयास उच्च मानकों के साथ किए जाएँ। उन्होंने निर्णायक-मंडल की भूमिका की सराहना भी की, जिन्होंने पुरस्कारों से संबंधित प्रक्रिया के उच्च मापदंड को बनाए रखा है। राज्यपाल ने सम्मानितों को बधाई दी और उन्हें स्टेंडिंग ओविएशन दिलाया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि समाज के विभिन्न क्षेत्रों में नाम रोशन करने वाली प्रतिभाओं के सम्मान से प्रदेश गौरवान्वित हुआ है। उन्होंने स्वामी विवेकानंद के विचारों और महाभारत के प्रसंग का उल्लेख करते हुए कहा कि जीवन निरंतर आगे बढ़ना है। सम्मान एक पड़ाव भर है। मंजिल अभी बाकी है। अपनी प्रतिभा को पहचान कर कार्य करने वालों को निरंतर बेहतर परिणाम मिलते हैं। उन्होंने कहा कि जीवन भर परिश्रम और समर्पण से उत्कृष्ट काम करने वालों के साथ पदनाम वालों का सम्मान ज्यूरी की निष्पक्षता को बताता है। साथ ही दूसरों के काम आने वाले जीवन के अनुसरण की प्रेरणा देता है।

सर्वोच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश जस्टिस श्री के.जी. बालकृष्णन ने पुरस्कार विजेताओं को बधाई दी। पूर्व भारतीय राजनयिक श्री दयाकर रताकोंडा ने ज्यूरी के संबंध में जानकारी दी। ज्यूरी के सदस्य श्री वेद प्रताप वैदिक ने सम्मानित विभूतियों के उत्कृष्ट कार्य और व्यवहार का स्मरण किया। साथ ही उनकी विलक्षणताओं का परिचय दिया।

चैंपियंस ऑफ चेंज अवार्ड समिति चेयरमेन एंड फाउंडर श्री नंदन झा ने कहा कि देश समाज को गौरवान्वित करने वाले नायकों को सम्मानित करना, उन्हें अवार्ड के माध्यम से समाज से परिचित कराने का प्रयास है। उन्होंने अवार्ड समारोह की पृष्ठभूमि पर प्रकाश डाला। समिति के महासचिव श्री देवेंद्र प्रताप सिंह ने स्वागत उद्बोधन में कहा कि पुरस्कार समारोह समाज को दिशा और प्रेरणा देने का प्रयास है। इसी भाव और भावना के साथ समाज में योगदान देने वालों को अवार्ड से सम्मानित किया गया है।

चैंपियंस ऑफ चेंज अवार्ड से पुरस्कृत पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री विक्रम वर्मा, पूर्व राज्यपाल उत्तरप्रदेश, मिजोरम, उत्तराखंड डॉ. अजीज कुरेशी ने भी संबोधित किया। समारोह में सम्मानित होने वाली अन्य विभूतियों में पंडवानी लोकशैली की गायिका सुश्री तीजन बाई, राज्यसभा सांसद श्री सैय्यद ज़फर इस्लाम, पूर्व महापौर इंदौर सुश्री मालिनी लक्ष्मण सिंह गौड़, अविष्कारक श्री बनवारी लाल चौकसे, पूर्व लोकसभा सांसद डॉ. भागीरथ प्रसाद, भारतीय शास्त्रीय संगीतज्ञ कलापनि कोमकली, सेवा धर्म आश्रम उज्जैन के संस्थापक श्री सुधीर भाई गोयल, संचालक दैनिक भास्कर कार्प लिमिटेड श्री गिरीश अग्रवाल, भारतीय सिने अभिनेता श्री पीयूष मिश्रा, उद्यमी श्री मनन दीक्षित, भारतीय टेलीविजन अभिनेत्री सुश्री दिव्यंका त्रिपाठी, चेयरमेन दिलीप बिल्डकॉन लिमिटेड श्री दिलीप सूर्यवंशी, ध्रुपद गुरु श्री अभिजीत सुखदाणें, वक्ता लेखक सुश्री आर्या चावड़ा, चेयरमेन आर.साई. लॉजिस्टिक्स इंडिया प्रायवेट लिमिटेड श्री रोहित सिंह तोमर, प्रदेश की पहली महिला पर्वतारोही सुश्री मेघा परमार, वरिष्ठ पत्रकार न्यूज एंकर ए.बी.पी. श्री विकास भदौरिया, प्रेसीडेंट केंप सुश्री प्रियंका द्विवेदी, प्रबंध संचालक नर्मदा हेल्थ ग्रुप डॉ. रेणु शर्मा, बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. प्रकाश जैन, फाउंडर येलो डिजी श्री मयूर सेठी और कार्यपालक सचिव ज्ञान गंगा ग्रुप श्री रजनीत जैन शामिल थे।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ