Buxwah

मुख्यमंत्री योगी ने किया रामलला का दर्शन, मंदिर निर्माण के प्रगति की ली जानकारी

 अयोध्या,

दोबारा मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार अयोध्या पहुंचे योगी

लगातार दूसरी बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को पहली बार अयोध्या पहुंचे। रामकथा पार्क पर बनाए गए हेलीपैड में उनके हेलीकॉप्टर ने लैंड किया। इसके बाद वहां से सीधे हनुमानगढ़ी पहुंचे। वहां हनुमंत लला के दर्शन कर परिक्रमा की। यहां से राम जन्मभूमि के लिए रवाना हुए।




राम जन्मभूमि पहुंचने के बाद मुख्यमंत्री योगी ने विराजमान रामलला का दर्शन किया साथ ही आरती उतारी। इसके बाद परिसर में चल रहे राम मंदिर निर्माण कार्य का जायजा लिया। यहां से मुख्यमंत्री बड़ा भक्तमाल पहुंचे। यहां पर प्रमुख संतों से मुलाकात की। इसके बाद हिंदी नव वर्ष की पूर्व संध्या पर निकाली गई रामकोट परिक्रमा को हरी झंडी दिखाई।

 इस बार के भ्रमण में मुख्यमंत्री द्वारा भक्तमाल के पीठाधीश्वर से मुलाकात के समय तथा श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्यगोपाल दास से मुलाकात की उनके साथ सेवा करने वाले सेवादारों एवं सहायकों की भी जानकारी ली तथा उनके साथ आत्मियता के साथ वार्ता की तथा स्वास्थ्य की भी जानकारी ली एवं रामनवमी के उत्सव मनाने में शासन प्रशासन के सहयोग का आश्वासन दिया।

मुख्यमंत्री के भ्रमण के दौरान क्षेत्रीय विधायक वेद प्रकाश गुप्ता, बीकापुर विधायक अमित सिंह चैहान, रूदौली विधायक रामचन्द्र यादव, मेयर ऋषिकेश उपाध्याय सहित मण्डलायुक्त, पुलिस महानिरीक्षक, जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, नगर आयुक्त विशाल सिंह, मुख्य विकास अधिकारी, अपर जिलाधिकारीगण, पुलिस अधीक्षक गण, जनपद एवं मण्डल के वरिष्ठ अधिकारी, भारतीय जनता पार्टी के महानगर अध्यक्ष, जिलाध्यक्ष एवं अन्य सम्बंधित विभाग के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

अयोध्या पहुंचे सीएम योगी ने कहा कि मठो, मंदिरो, धर्मशालाओ एवं धमार्थ से जुड़ी संस्थाओ से नगर निगम कमार्शियल दर से गृहकर, जलकर न ले ये सभी संस्थाएं धमार्थ एवं जन सेवा का कार्य करती है इनसे टोकन मनी के रूप में सहयोग ले यदि आवश्यक हो तो इसका प्रस्ताव बनाकर शीघ्र अनुमोदन नगर विकास विभाग से प्राप्त कर ले। श्री राम मंदिर भूमि पूजन के बाद यह पहला रामनवमी मेला कोविड के बाद हो रहा है।

इसकी तैयारी भव्यता से कराये तथा अयोध्या को विश्व मानचित्र पर लाने के लिए विशेष प्रयास करे। शासन प्रशासन का कोई भी अधिकारी एवं वीआईपी अष्टमी एवं नवमी को अयोध्या का भ्रमण न करे यदि करेंगे तो उन्हे सामान्य व्यवस्था ही प्रदान की जाय।नव संवत् वर्ष कल 02 अप्रैल 2022 से प्रारम्भ हो रहा है इस अवसर पर सभी को मुख्यमंत्री ने बधाई दी तथा सभी की भागीदारी से पर्व को मनाएं ऐसा मेरी इच्छा है।

अन्र्तराष्ट्रीय रामकथा संग्राहलय में श्री राम नवमी की तैयारी की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री योगी अदित्य नाथ कहा कि राम मंदिर का निर्माण प्रारम्भ हो गया है। रामनवमी के बाद भी प्रतिदिन हजारो की संख्या में श्रद्धालु पूरे भारत से प्रतिदिन आयेगें इसे दृष्टिगत रखते हुए अयोध्या का ऐसा मनमोहक वातावरण सृजित करे एवं अयोध्या की ऐसी सजावट करें कि श्रद्धालुओ को अयोध्या प्रवेश करते ही उन्हें पूरा वातावरण राममय लगे और जब वे अपने गृह जनपद वापस जाए तो एक अच्छा भाव लेकर जाएं।

अयोध्या आते वक्त जैसी परिकल्पना श्रद्धालु के मन मस्तिक में रही हो। चुनाव के पूर्व जो भी विकास योजनाएं बनाई गई और वे पेनिं्डग पड़ी हो, उन्हें तत्काल शुरू कराये जिनकी डीपीआर न बनी हो उनकी डीपीआर बनाकर भेजे जिस भी स्तर पर पत्रावली स्वीकृत हेतु पेनिं्डग हो उन पर तत्काल कार्यवाही करते हुए सभी परियोजनाओ का कार्य तेजी से शुरू कराकर निर्धारित अवधि में पूर्ण कराये।


साभार- बुंदेलखंड न्यूज़


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ