Buxwah

प्रमुख ख़बर नई दिल्ली से खजुराहो वाया झाँसी के बीच जल्द चलेगी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन, तैयारियां जारी

 रेलवे द्वारा यात्रियों के लिए बड़ी खुशखबरी है, जल्द ही वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन खजुराहो और राजधानी दिल्ली वाया झाँसी होते हुए चलेगी।



मध्य प्रदेश का शहर खजुराहो बड़ा पर्यटन छेत्र है, देश विदेश से लोग यहाँ घूमने आते हैं. यहाँ पर बस, फ्लाइट की भी सुविधा है लेकिन बात करें अगर रेलवे की तो खजुराहो से बहुत कम ट्रेनें ही हैं किसी बड़े स्टेशन का जुड़ाव नहीं है. जिस वजह से काफी पर्यटकों को रेल सुविधा नहीं मिल पा रही थी, वहीं पिछले दो सालों में काफी बदलाव देखने में आया है पहला तो इस छेत्र में यानी महोबा से खजुराहो और खजुराहो से ललितपुर में विद्युतीकरण का काम तेजी से हुआ है, जिससे इलेक्ट्रिक लोको का यूज़ अब हो रहा है, तभी इस रूट में नयी ट्रेनें भी शुरू हुई हैं, जैसे  प्रयागराज से बाँदा महोबा खजुराहो होते हुए आंबेडकर नगर ट्रेन, अहमदाबाद से बरौनी सहित और अन्य ट्रेनें भी शुरू हुई हैं।

जल्द ही एक और बड़ी ट्रेन, वन्दे भारत एक्सप्रेस भी शामिल होने की कगार पर है। जिसकी पुष्टि रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव ने ही की है. वंदे भारत एक्सप्रेस पूरी तरह से स्वदेशी है। यह देश की सबसे तेज चलने वाली ट्रेन है। साथ ही अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है। अप्रैल में झांसी रेल मंडल के दौरे के दौरान रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव ने खजुराहो को वंदे भारत ट्रेन की सौगात देने की घोषणा की थी।

रेल मंत्री की घोषणा को मूर्त रूप देने की तैयारी है। माना जा रहा है ये ट्रेन दिल्ली से खजुराहो के बीच झांसी होते हुए चलाई जाएगी। दिल्ली से खजुराहो के बीच छह सौ पचास किलोमीटर की दूरी में इस ट्रेन का केवल दो स्टेशनों पर यानी आगरा और झांसी में ठहराव होगा। इस ट्रेन से झांसी से दिल्ली की ओर जाने वाले यात्रियों को भी लाभ मिलेगा। हालांकि, रूट अभी तय नहीं किया गया है।

वंदे भारत ट्रेनों में प्रीमियम कम्फर्ट के साथ सभी चेयर कार सेवाएं वातानुकूलित होंगी. बाकी खूबी आपने वन्दे भारत की सुनी ही होगी, लेकिन अब जल्द ही इसे देखने का मौका भी मिलेगा। इस दौरान रेल मंत्री ने कहा छतरपुर और खजुराहो में दो रेक प्वाइंट स्वीकृत किए गए हैं।

नई दिल्ली से खजुराहो वाया झाँसी के बीच जल्द चलेगी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन.. साथ ही सतना पन्ना खजुराहो रेल लाइन का निर्माणाधीन काम तेजी से हो, इसके लिए दिशा निर्देश दिए। कुल मिलाकर खजुराहो के पुनर्विकास के बाद यह विश्वस्तरीय स्टेशन होगा, और यहाँ ट्रेनें बढ़ेंगी जिससे सीधा फायदा बुंदेलखंड छेत्र को मिलेगा।


साभार- बुंदेलखंड न्यूज़ 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ