Buxwah

हमीरपुर स्कूल चलो अभियान में हमीरपुर को मिला प्रदेश में पांचवा स्थान

 हमीरपुर

स्कूल चलो अभियान में हमीरपुर को मिला प्रदेश में पांचवा स्थान 06 वर्ष से 14 वर्ष तक की आयु के शत प्रतिशत बच्चों का स्कूलों में दाखिला कराए जाने/नामांकन कराए जाने तथा उनको शिक्षा से.. हमीरपुर में स्कूल चलो अभियान के अंतर्गत लक्ष्य से अधिक हुए नामांकन



06 वर्ष से 14 वर्ष तक की आयु के शत प्रतिशत बच्चों का स्कूलों में दाखिला कराए जाने/नामांकन कराए जाने तथा उनको शिक्षा से जोड़ने हेतु 04 अप्रैल को मुख्यमंत्री द्वारा श्रावस्ती जनपद से प्रारंभ किए गए स्कूल चलो अभियान में जनपद को बड़ी सफलता मिली है। 01 मई 2022 को जारी हुई स्कूल चलो अभियान की रैंकिंग में प्रदेश स्तर पर जनपद हमीरपुर को पांचवा स्थान प्राप्त हुआ है।

स्कूल चलो अभियान 04 अप्रैल से 30 अप्रैल तक संचालित किया गया। स्कूल चलो अभियान के तहत हमीरपुर को वाराणसी, जौनपुर, भदोही व झांसी के बाद पांचवा स्थान प्राप्त हुआ है। इसके अंतर्गत जनपद को 06 से 14 वर्ष के बच्चों के नामांकन/स्कूलों में दाखिला कराए जाने हेतु प्राप्त हुए 23,325 के लक्ष्य के सापेक्ष जनपद में 23,629 बच्चों के नामांकन/स्कूलों में दाखिला कराया गया। जो कि लक्ष्य का 101.3 प्रतिशत है। इस अभियान में चित्रकूट धाम मंडल के अन्य जनपदों से जनपद हमीरपुर काफी आगे है, चित्रकूट धाम मंडल में चित्रकूट को 41वां, बांदा को 69वां तथा महोबा को 75 वां स्थान प्राप्त हुआ है।

स्कूल चलो अभियान में जनपद को मिली सफलता का श्रेय जिलाधिकारी डा. चंद्रभूषण की निगरानी को जाता है। स्कूल चलो अभियान में सफलता हेतु जिलाधिकारी डा. चंद्रभूषण ने नियमित रूप से शिक्षकों, खंड शिक्षा अधिकारियों, खंड विकास अधिकारियों, संबंधित जनपद स्तरीय अधिकारियों, लेखपाल सचिवों के साथ नियमित रूप से जूम मीटिंग कर स्कूल चलो अभियान की नियमित रूप से समीक्षा की गई तथा लक्ष्य को प्राप्त करने हेतु जरूरी निर्देश दिए गए।

इसी का नतीजा है कि आज जनपद को प्रदेश स्तर पर यह महत्वपूर्ण स्थान प्राप्त हुआ है। स्कूल चलो अभियान में सफलता के लिए नियमित रूप से जागरूकता रैली एवं डोर टू डोर अभिभावकों से संपर्क करने का कार्य किया गया तथा एक रणनीति बनाकर प्रत्येक अभिभावक तक पहुंचने का प्रयास किया गया है। जिलाधिकारी ने स्कूल चलो अभियान के कार्य में लगी पूरी टीम को बधाई दी। उन्होंने बताया कि सराहनीय कार्य हेतु खंड शिक्षा अधिकारियों को सम्मानित भी किया जाएगा।


साभार- बुंदेलखंड न्यूज़ 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ