Buxwah

महोबा महोबा : अमर्यादित आचरण के दोषी सहायक सूचना अधिकारी सतीश कुमार यादव हुये निलंबित

 महोबा

भगवान परशुराम के खिलाफ भगवान के जन्मोत्सव के दिन फेसबुक एवं व्हाट्सअप पोस्ट के माध्यम से अनर्गल टिप्पणी कर समाजिक विद्वेष भड़काने की कोशिश करने के आरोपी महोबा जिला सहायक सूचना अधिकारी को सूचना निदेशक लखनऊ के द्वारा सरकारी सेवक अनुशासन एवं अपील नियमावली 1999 में प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुये निलंबित कर दिया गया।



ग़ौरतलब है कि महोबा जिले के सहायक सूचना अधिकारी सतीश कुमार यादव के द्वारा दिनाँक 3 मई को स्वयं की फेसबुक एवं व्हाट्सअप बॉल पर प्रभु परशुराम को महिलाओं , बच्चों का संहारक बताते हुये उनके सार्वजनिक विरोध की बात कही गयी थी, जिसको लेकर महोबा जिले के विप्र समाज ने इस कृत्य की कड़े शब्दों में निंदा की, उसी दिन जिला मुख्यालय में पुराने प्राइवेट बस स्टेण्ड पर नगर पालिका के द्वारा भगवान परशुराम की मूर्ति की  स्थापना कराई जा रही थी जिसका पूजन एवं अनावरण  विधान परिषद सदस्य जीतेन्द्र सिंह सेंगर, विधायक महोबा राकेश गोस्वामी, नगर पालिका अध्यक्ष दिलाशा सौरभ तिवारी के द्वारा कराया जा रहा था, जहाँ शहर के विप्रजनों द्वारा भारी संख्या में पहुँचकर सतीश कुमार यादव के लिखित कृत्य के वारे में मौजूद जनप्रतिनिधियों को बताते हुये रोष व्यक्त किया गया, मौजूद जनप्रतिनिधियों द्वारा मामले की जानकारी मिलते ही जिले के प्रशासनिक अधिकारियों से इस सम्बंध में फोन पर बात की गई एवं उपस्थित जनसमूह के रोष के बारे में भी बताया गया , जिसमें अधिकारियों द्वारा जांच कर कार्यवाही की बात कही गयी।

इसके बाद ब्राम्हण स्वयं सेवक संघ के जिला पदाधिकारियों अरविंद तिवारी, देवेन्द्र सुल्लेरे, कृष्ण गोपाल द्विवेदी, आदर्श तिवारी, आलोक शर्मा, भरत तिवारी, कमलनयन, मयंक तिवारी, अनुज, अनमोल, राजेश , मनीष आदि के द्वारा भारी संख्या में एकत्र होकर जिलाधिकारी महोबा को जिला सूचना अधिकारी पर तत्काल प्रभाव से कार्यवाही करने हेतु लिखित प्रार्थनापत्र रात्रि 10:25 पर सौंपा गया जिसके आशय में जिला अधिकारी द्वारा उचित कार्यवाही की बात कही गयी, एवं संगठन के द्वारा एक लिखित तहरीर कोतवाली प्रभारी महोबा को भी सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही हेतु दिया गया।

जिसके  एवज में जिला अधिकारी महोबा द्वारा तत्काल अपर जिला अधिकारी एवं अपर पुलिस अधीक्षक की एक कमेटी बनाते हुये  सम्बंधित अधिकारी प्रकरण में तीन दिन के  अंदर जाँच सौंपने के लिये आदेशित किया गया , वहीं दूसरी ओर जिले के पत्रकार संगठन उपजा के जिलाध्यक्ष महेन्द्र द्विवेदी ने अपने संगठन के सैकड़ो साथियों के साथ  जिला अधिकारी महोबा को ज्ञापन सौंपा एवं मुख्यमंत्री उत्तरप्रदेश सरकार, सूचना निदेशक लखनऊ को ईमेल ट्विटर, पोर्टल पर अपनी शिकायत सम्बंधित मामले में   प्रेषित कर एवं जनाक्रोश के बारे में बताते हुये जल्द से जल्द कार्यवाही की मांग की, जिसमें प्रेस क्लब के अध्यक्ष संजय मिश्रा ने भी अपने संगठन के साथ जिला अधिकारी महोबा, पुलिस अधीक्षक महोबा को उक्त मामले में ज्ञापन सौंप कर कार्यवाही की मांग की, विप्रजनों द्वारा लगातार अपनी मांग को जारी रखते हुये कुलपहाड़ में तहसील दिवस में जिला अधिकारी को पत्र सौंपा एवं जल्द कार्यवाही न होने की दिशा में बृहद आंदोलन की बात कही जिसमें बृजेन्द्र द्विवेदी, मानवेन्द्र सिंह, नीतेंद्र चौबे,  रविन्द्र उपाध्याय, शरद रावत,आकाश मिश्रा, सन्दीप कुमार, उदयप्रकाश, भरत त्रिपाठी आदि प्रमुख रूप से रहे। 

संगठन पदाधिकारियों द्वारा लगातार सत्तारूढ़ दल के पदाधिकारियों  रामनरेश तिवारी जिला प्रभारी महोबा से सम्पर्क किया गया , एवं लखनऊ के उच्च नेताओं से फोन पर वार्ता की जाती रही। लगातार प्रशासन पर पड़ रहे दबाव के फलस्वरूप 7 मई शाम में सूचना अधिकारी सतीश कुमार यादव को निलंबित कर दिया गया एवं सम्बंधित मामले मे जाँच जारी रखने के आदेश उच्च अधिकारियों को दिये गये ।


साभार- बुंदेलखंड न्यूज़ 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ