Buxwah

पन्ना आदमखोर भालू ने दंपती को मार डाला, 5 घंटे तक मृत शरीर पर करता रहा चहलकदमी

पन्ना में रानीगंज निवासी मुकेश राय और उसकी पत्नी गुड़िया राय पर एक आदमखोर भालू ने हमला करके दोनों को मार डाला। यह हमला खेर माता के पास हुआ।



बताया गया, घटनास्थल पर मोहल्ले के लोग भारी संख्या में एकत्र हो गए। इसके बाद वन विभाग को फोन लगाते रहे, लेकिन दो घंटे तक घटनास्थल पर कोई नहीं पहुंचा। इससे लोगों में आक्रोश रहा। लोगों ने बताया, भालू दंपती पर लगातार हमला करता रहा और उनके शरीर को क्षत-विक्षत कर डाला। घटना रानीगंज के आगे लोकपाल सागर तालाब के पीछे खेरमाई मंदिर के पास की है।वन विभाग के कर्मियों ने भालू को ट्रेंक्यूलाइज कर काबू पाया। लोगों ने कहा, भालू अब आदमखोर हो गया है, इसलिए इसका अब यहां होना खतरनाक है।

पन्नाभालू के दंपती पर जानलेवा हमला की घटना की सूचना के दो घंटे बाद वन विभाग की रेस्क्यू टीम पहुंची। इसके बाद पन्ना टाइगर रिजर्व की रेस्क्यू टीम ने इस भालू को बेहोश कर पकड़ लिया है। जब भालू को बेहोश कर पकड़ा गया तब कहीं मृतक मुकेश राय एवं उसकी पत्नी गुड़िया के आधे से अधिक शरीर को बरामद किया जा सका। उत्तर वन मंडल के डीएफओ गौरव शर्मा का कहना है किस शासन के नियमानुसार 4-4 लाख मृतकों के आश्रितों को आर्थिक मदद दी जाएगी और इस भालू को चिड़ियाघर भेजा जाएगा।

वही नाराज परिजन ने कुछ देर तक हंगामा किया इसके बाद गरीब परिवार को आर्थिक मदद के साथ नौकरी की मांग की है। यह पहली घटना है जो शहर के नजदीक इस तरह दो लोगों को एक भालू जिंदा खा गया और 5 घंटे तक मृत शरीर पर चहलकदमी करता रहा और नोचता रहा पर प्रशासन कुछ नहीं कर पाया जिससे लोगों में दुख और नाराजगी है।  मृतक दंपती के पुत्र को सांत्वना देते सांसद व भाजपा प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा ने मुलाकात की और ह्रदय विदारक घटना के बाद संवेदनाएं व्यक्त की है। घटना पर दुख प्रकट करते हुए सांसद वीडी शर्मा ने बेटी और बेटा को ढाढस बंधाया है।

लोकपाल सागर की पहाड़ी जहां पर भालू ने पति पत्नी पर हमला करके उन्हें मौत के घाट उतारा है, उस इलाके में इसके पूर्व भी हमले की कई घटनाएं हो चुकी हैं। कुछ साल पूर्व जहां एक भालू पानी की तलाश में शहर के आबादी क्षेत्र रानीगंज मोहल्ले में घुस आया था, वहीं हमले की भी विगत 2 वर्ष पूर्व घटना हो चुकी है। जिसमें सुबह सैर व निस्तार के लिए गए लोगों पर हमला बोलकर भालू ने आधा दर्जन से भी अधिक लोगों को घायल कर दिया था। इस इलाके में बीते 5-6 वर्षों के दौरान भालू के हमले की यह तीसरी घटना है, जिसमें पति-पत्नी की असमय मौत हुई है।



साभार- बुंदेलखंड न्यूज़ 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ