Buxwah

कृषि विश्वविद्यालय बांदा के खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय स्तर पर फहराया परचम

 कृषि विश्वविद्यालय बाँदा ने एक बार पुनः राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त की हैं। विश्वविद्यालय की खिलाड़ी धाविका कु.आँचल राजपरमार ने राष्ट्रीय अन्तर कृषि विश्वविद्यालय खेल प्रतियोगिता जो हिसार हरियाणा में आयोजित हुआ था। उसमें 800 व 5000 मी. रेस में तृतीय स्थान प्राप्त कर कांस्य पदक जीता है। इस प्रतियोगिता में देश के 68 कृषि विश्वविद्यालय के खिलाड़ियों ने विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लिया।



 कु.आँचल ने विभिन्न चरणों में 62 धावकों को पीछे छोड़ते हुए तृतीय स्थान प्राप्त किया। कु. आँचल मूलतः छायन ग्राम, मेहरौनी, ललितपुर जनपद की रहने वाली हैं तथा यहाँ पर कृषि वानिकी महाविद्यालय की तृतीय वर्ष की छात्रा हैं। राष्ट्रीय स्तर पर खेलकूद में विश्वविद्यालय का नाम रोशन करने पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. नरेंद्र प्रताप सिंह ने बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। कुलपति ने कहा कि हम सीमित संसाधनों में भी राष्ट्रीय स्तर पर स्थान बना पाए इसके लिए छात्रों की कड़ी मेहनत एवं प्रशिक्षक डॉ. अभिषेक यादव, डॉ. अभिषेक कालिया और विश्वविद्यालय के स्पोर्ट्स बोर्ड के सदस्यों के कड़ी मेहनत का प्रतिफल है। विश्वविद्यालय शिक्षा, शोध एवं प्रसार के साथ साथ खेलकूद एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भी अच्छा कर सकें इसके लिए हर सम्भव प्रयास विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा किया जाएगा।

विश्वविद्यालय से कुल 23 खिलाड़ियों की टीम, टीम मैनेजर सहायक प्राध्यापक डॉ. अभिषेक कुमार यादव व सहायक प्राध्यापक डॉ.स्वेता सोनी के नेतृत्व में विभिन्न प्रतियोगिताओं ने भाग लेने को कृषि विश्वविद्यालय हिसार, हरियाणा गयी थी। इस प्रतियोगिता में खिलाड़ियों का प्रदर्शन काफी सराहनीय रहा है। 1500 मी. रेस एवं जेबलिन थ्रो में खिलाड़ी फाइनल में जगह बनाए थे। कबड्डी, बैडमिंटन तथा टेबल टेनिस में खिलाड़ी क्वार्टर फाइनल में अपना जगह बनाने में कामयाब रहे। कबड्डी में कांटे के टक्कर में खिलाड़ी कम अंतर से कृषि विश्वविद्यालय हिसार, हरियाणा से जीतते जीतते रह गए। 26 फरवरी की सुबह खिलाड़ियों की टीम ट्रैन से बाँदा रेलवे स्टेशन पहुंची जहाँ पर विश्वविद्यालय के अधिकारी व प्राध्यापकों की टीम ढ़ोल नगारे व फूल-माला तथा मिठाइयों से खिलाड़ियों का स्वागत किया।

विश्वविद्यालय के खिलाड़ियों द्वारा खिलाड़ियों की इस उपलब्धि पर विश्वविद्यालय के अधिष्ठाता छात्र कल्याण, प्रो. अजय कुमार सिंह ने शुभकामनाएं दी और कहा कि विश्वविद्यालय हर संभव खिलाड़ियों के उत्थान के लिए और बेहतर सुविधा एवं संसाधन उपलब्ध कराने हेतु प्रयासरत रहेगा, जिससे खेल में और ख्याति मिल सके। कृषि महाविद्यालय के अधिष्ठाता, प्रो. जी. एस. पंवार ने भी अपनी शुभकामनाएं दी। प्रो. पंवार ने कहा कि हम और लगन एवं मेहनत से खेल को आगे बढ़ाएंगे, जिससे और भी प्रतियोगिताओं में पदक ला सकें। टीम के मैनेजर एवं प्रशिक्षक सहायक प्राध्यापक, डॉ. अभिषेक कुमार यादव ने इस उपलब्धि का श्रेय खिलाड़ियों की मेहनत, अनुशासन एवं दृढ़ संकल्प तथा विश्वविद्यालय के कुलपति का मार्गदर्शन को दिया।  टीम के ट्रैन से बाँदा रेलवे स्टेशन पहुंचने पर खिलाड़ियों का स्वागत में मुख्य रूप से अधिष्ठाता छात्र कल्याण, डॉ. अजय कुमार सिंह, अधिष्ठाता कृषि महाविद्यालय, डॉ. जी. एस. पंवार, सहायक अधिष्ठाता छात्र कल्याण, के. एस. तोमर, डॉ. ए. के. सिंह, डॉ. बी. के. गुप्ता, डॉ. अभिषेक कालिया, डॉ. दिनेश गुप्ता, डॉ. धीरेंद्र सिंह आदि उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ